Dhokla Recipe In Hindi: स्वादिष्ट और सेहतमंद ढ़ोकला रेसिपी

Dhokla Recipe In Hindi

 

सुरुआत: ढ़ोकला(Dhokla) एक लोकप्रिय गुजराती नास्ता है

ढ़ोकला, एक स्वादिष्ट और हेल्थी गुजराती नास्ता है जिसे बनाना बहुत ही सरल है। हमारी ढ़ोकला(Dhokla) रेसिपी से आप इसे आसानी से बना सकते हैं और अपने परिवार को स्वादिष्ट भोजन का आनंद लेने का आनंद दे सकते हैं।

सामग्री:

  • सूजी: ढ़ोकला(Dhokla) के लिए सूजी एक महत्वपूर्ण घटक है। सूजी से बने ढ़ोकले बहुत ही सॉफ्ट और फ्लफी होते हैं।
  • दही: दही ढ़ोकले को एक नरम और फ्लेवरफुल टेक्सचर प्रदान करता है।
  • इमली और खट्टा पानी: इमली और खट्टा पानी ढ़ोकले को एक अद्भुत ख़ट्टा-मीठा स्वाद प्रदान करते हैं।

रेसिपी: Dhokla Recipe In Hindi

1. सूजी और दही का मिश्रण तैयार करें:

पहले, एक बड़े बाउल में 2 कप सूजी और 1 कप दही ले। इसमें थोड़ा सा नमक भी मिलाएं। अब इसे अच्छे से मिलाएं ताकि एक गाढ़ा मिश्रण बने।

2. फर्मा पानी और दही जोड़ें:

अब इसमें 1/2 कप फारमा पानी डालें और पुनः मिलाएं। फिर से एक बार दही और पानी का मिश्रण बना लें।

3. फ्रेश इमली और खट्टा पानी मिलाएं:

मिश्रण में 1 चम्च इमली का रस डालें और फिर 1/2 कप खट्टा पानी मिलाएं। इससे ढ़ोकले को एक ख़ास ख़ट्टा-मीठा स्वाद मिलेगा।

4. बैकिंग सोडा मिलाएं और छोड़ें:

अब इसमें आधा चम्च बेकिंग सोडा मिलाएं और फिर से अच्छे से मिलाएं। मिश्रण को १५-२० मिनट के लिए छोड़ दें ताकि यह फ़ेंट जाए।

5. ढ़ोकला(Dhokla) बनाएं:

अब एक ढ़ोकला(Dhokla) बैटर तैयार है। एक ढ़ोकला थाली को तेल से ग्रीस करें और तैयार मिश्रण को ढ़ालें।

6. ढ़ोकला(Dhokla) को धूप में सेट करें:

ढ़ोकला बैटर को थाली में अच्छे से स्प्रेड करें और इसे बाग़ की धूप में १५-२० मिनट के लिए सेट करें।

7. ढ़ोकला(Dhokla) तैयार हैं:

धूप से निकालने के बाद, ढ़ोकला(Dhokla) तैयार हैं। इसे छोटे टुकड़ों में काटकर परोसें। ढ़ोकला के साथ ताजगी भरा टमाटर की चटनी या धनिया-पुदीना की चटनी के साथ सर्व करें।

समापन:

आशा है कि आपको हमारी ढ़ोकला(Dhokla) रेसिपी पसंद आई होगी। इसे अपने परिवार और मित्रों के साथ साझा करें और स्वादिष्ट भोजन का आनंद लें।

 

ढ़ोकला(Dhokla) रेसिपी के लाभ:-

1. स्वादिष्ट और सेहतमंद विकल्प:

ढ़ोकला रेसिपी का एक अद्वितीय लाभ यह है कि यह स्वादिष्ट और सेहतमंद विकल्प है। इसमें सूजी, दही, और इमली जैसी स्वस्थ सामग्रीयों का उपयोग होता है जो आपके शारीरिक स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करती हैं।

2. आसानी से बनाया जा सकता है:

ढ़ोकला रेसिपी बनाना बहुत ही आसान है। सामग्री सामान्य घरेलू उपकरणों से होती है और इसे तैयार करने में कोई विशेष कौशल की आवश्यकता नहीं होती।

3. विभिन्न स्वादों का आनंद:

ढ़ोकला रेसिपी को बनाने में आप अपनी पसंद के अनुसार विभिन्न मसालों और तड़कों का उपयोग कर सकते हैं। इससे आप अपने भोजन को विविधता और स्वाद के साथ निकाल सकते हैं।

4. पौष्टिकता से भरपूर:

ढ़ोकला में सूजी और दही का मिश्रण होता है, जिससे यह पौष्टिक और सुपाच्य होता है। इसमें प्रोटीन, फाइबर, और विटामिन्स शामिल होते हैं जो आपके शारीरिक स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करते हैं।

5. परिवार और मित्रों के साथ बाँटें आनंद:

ढ़ोकला रेसिपी एक सोशल और आनंददायक भोजन है जिसे परिवार और मित्रों के साथ बाँटना एक आनंददायक अनुभव है। इसे बनाने और साझा करने से आप अपने रिश्तों को मजबूती से बनाए रख सकते हैं।

आप इन ढ़ोकला रेसिपी के लाभों को समझकर इसे अपने दैनिक जीवन में शामिल कर सकते हैं और स्वस्थ और स्वादिष्ट भोजन का आनंद ले सकते हैं।

 

ढ़ोकला की पौष्टिकता:-

ढ़ोकला, एक स्वादिष्ट और पौष्टिक गुजराती नास्ता है जो सूजी, दही, और इमली का समृद्धिशाली संग्रह है। इसमें पौष्टिक सामग्रीयों का सही मिश्रण है जो आपके शारीरिक स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है। यहां हम ढ़ोकला की पौष्टिकता के बारे में बात करेंगे:

1. सूजी:

  • सूजी में प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं जो ऊर्जा के स्रोत के रूप में कार्य करते हैं।
  • इसमें फाइबर होता है जो पाचन को सुधारने में मदद करता है।

2. दही:

  • दही में प्रोटीन, कैल्शियम, और विटामिन्स होते हैं जो हड्डियों और मांसपेशियों के लिए फायदेमंद होते हैं।
  • यह पाचन को सुधारने में मदद करता है और इम्यून सिस्टम को मजबूती प्रदान करता है।

3. इमली:

  • इमली में विटामिन सी होता है जो आंतरिक सुरक्षा को बढ़ावा देता है।
  • इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो शरीर को रोगों से बचाने में मदद करते हैं।

4. खट्टा पानी:

  • खट्टा पानी में विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो शरीर की सुरक्षा में मदद करते हैं।
  • यह पाचन को बेहतर बनाए रखने में सहायक है।

5. बेकिंग सोडा:

  • बेकिंग सोडा पाचन को सुधारने में मदद करता है और विषैले पदार्थों को शरीर से बाहर निकालता है।

इस प्राकृतिक ढ़ोकला रेसिपी का सही सामग्री उपयोग करने से आप न केवल स्वादिष्ट भोजन का आनंद लेंगे बल्कि अपने शारीरिक स्वास्थ्य को भी बनाए रखेंगे। इसे नियमित रूप से शामिल करके आप अपने दैहिक आवश्यकताओं को पूरा कर सकते हैं।

 

सामान्य पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs):-

 

  1. क्या ढ़ोकला(Dhokla) बनाना कठिन है?

नहीं, ढ़ोकला(Dhokla) बनाना बहुत ही सरल है। यह घरेलू उपकरणों का उपयोग करके आसानी से तैयार किया जा सकता है।

2. क्या सूजी के स्थान पर कोई अन्य आटा उपयोग किया जा सकता है?

हां, आप रवा या बाजरा का आटा भी उपयोग कर सकते हैं, लेकिन सूजी से बना ढ़ोकला(Dhokla) सॉफ्ट और फ्लफी होता है।

3. क्या इस रेसिपी को बनाने के लिए विशेष ढ़ोकला थाली की आवश्यकता है?

नहीं, आप किसी भी थाली का उपयोग कर सकते हैं, लेकिन ढ़ोकला थाली से आसानी से काटा जा सकता है।

  • 4. धूप में सेट करने के लिए कितना समय लगता है?

धूप में सेट करने के लिए लगभग 15-20 मिनट की आवश्यकता है, ताकि ढ़ोकला अच्छे से बन सके।

  • 5. ढ़ोकला के साथ कौन-कौन सी चटनी सही रहेगी?

ढ़ोकला के साथ ताजगी भरा टमाटर की चटनी या धनिया-पुदीना की चटनी सर्वोत्तम हो सकती हैं।

  • 6. यह रेसिपी कितने लोगों के लिए है?

इस रेसिपी से लगभग 4-6 लोगों के लिए पर्याप्त ढ़ोकला बनाया जा सकता है।

  • 7. क्या ढ़ोकला को ठंडा होने के बाद भी रखा जा सकता है?

हां, ढ़ोकला को ठंडा होने के बाद रेफ़्रिजरेटर में रखा जा सकता है और उसे बार-बार गरमा किया जा सकता है।

Leave a Comment